RSS

शादी कार्ड में राष्ट्रीय चिन्ह, फंस सकते हैं विजेंद्र

18 मई
भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंद्र सिंह अपने विवाह के निमंत्रण पत्र को लेकर मुश्किलों में फंस सकते हैं। उनके निमंत्रण पत्र पर राष्ट्रीय चिन्ह दर्शाया गया है और यह कानून के तहत एक तरह का अपराध है।
मंगलवार 17 मई को दिल्ली में हुई विजेंद्र की शादी में कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी, भारतीय ओलंपिक संघ के उपाध्यक्ष अभय सिंह चौटाला, केंद्रीय मंत्री सैलजा, सांसद राजीव शुक्ला के अलावा खेल जगत की कई हस्तियां मौजूद थी। विजेंद्र ने कल ही चार साल के प्रेम संबंध के बाद अर्चना से दिल्ली में शादी रचाई है।

राष्ट्रीय चिन्ह के इस्तेमाल को लेकर स्टेट एंबलम एक्ट 2005 बनाया गया है। कोई भी निजी व्यक्ति इसका इस्तेमाल नहीं कर सकता, क्योंकि किसी कागज पर इसका होना यह दर्शाता है कि व्यक्ति केंद्र सरकार से ताल्लुक रखता है या फिर जिस दस्तावेज पर यह दर्शाया गया है, वह केंद्र सरकार का है। अगर इस तरह का कोई मामला सामने आता है तो वह केंद्र के समक्ष भेजा जाएगा और सरकार का फैसला अंतिम होगा। इसका इस्तेमाल या तो सरकारी मोहर में हो सकता है या फिर संवैधानिक व्यक्ति इसका प्रयोग कर सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति इसका इस्तेमाल निजी तौर पर करता है और वह एक्ट के उल्लंघन का दोषी पाया जाता है तो उसके लिए सजा का भी प्रावधान है।
अधिनियम की धारा 3 के तहत अधिकतम दो साल की कैद या पांच हजार रुपये जुर्माना या फिर सजा व जुर्माना एक साथ भी किए जा सकते हैं। कोई व्यक्ति दूसरी बार इस तरह की गलती करता है तो उसे फिर से छह माह से लेकर दो साल तक की कैद भुगतनी होगी।
Advertisements
 
7 टिप्पणियाँ

Posted by on मई 18, 2011 in बिना श्रेणी

 

7 responses to “शादी कार्ड में राष्ट्रीय चिन्ह, फंस सकते हैं विजेंद्र

  1. Babli

    मई 19, 2011 at 9:27 पूर्वाह्न

    आपने बिल्कुल सही बात पर गौर किया है! आख़िर शादी के कार्ड पर राष्ट्रिय चिन्ह देने की कोई आवश्यकता नहीं थी! देखते हैं विजेन्द्रजी मुश्किल में पड़ते हैं या नहीं!

     
  2. anshumala

    मई 19, 2011 at 10:53 पूर्वाह्न

    मुझे नहीं लगता है जिसके बाराती राहुल गाँधी बने उन्हें इस मामले में कोई मुश्किल होगी किन्तु विजेंद्र ने क्या सोच कर और क्यों इस चिन्ह को अपने कार्ड पर प्रकाशित किया |

     
  3. राज भाटिय़ा

    मई 19, 2011 at 10:45 अपराह्न

    विजेन्द्रजी क्यो खाम्खा मे पंगा लिया, लेकिन डरे नही आप के संग रक्षक आप के संग हे, ओर वोटो के लालच मे ही सही, यह कोई मोका नही खोने देना चाहेगे, यार अगले साल वोटे नही चाहिये क्या?

     
  4. प्रवीण पाण्डेय

    मई 20, 2011 at 9:27 पूर्वाह्न

    संवेदनशील घटना।

     
  5. Babli

    मई 21, 2011 at 1:50 अपराह्न

    टिप्पणी देकर प्रोत्साहित करने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया!

     
  6. दिगम्बर नासवा

    मई 26, 2011 at 1:56 अपराह्न

    राहुल भैया साथ दे … किसकी हिम्मत होगी केस करने की …

     
  7. संजय भास्कर

    जुलाई 12, 2011 at 6:44 पूर्वाह्न

    बिल्कुल सही बात पर गौर किया है आपने

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: