RSS

अनचाही कॉल से मुक्ति – कम से कम एक साल तक नहीं

24 अप्रैल
कम से कम एक साल तक अनचाही कॉल से मुक्ति नहीं मिलने वाली है। ऐसे कॉल और एसएमएस से छुटकारा दिलाने के लिए बीएसएनएल को अपने नेटवर्क में सुधार लाना होगा और इसकी मंजूरी लेने में दस महीने का समय लगेगा। दूरसंचार नियामक प्राधिकरण [ट्राई] ने अनचाही कॉल की समस्या दूर करने के लिए टेलीमार्केटिंग कंपनियों को एक खास सीरीज वाले नंबर देने का आदेश दिया है। ऐसा करने के लिए बीएसएनएल को अपना नेटवर्क उन्नत करना होगा।
ट्राई के अनुरोध पर दूरसंचार विभाग ने टेलीमार्केटिंग कंपनियों को मोबाइल फोन के लिए ‘140’ से शुरू होने वाले नंबर सीरीज मुहैया कराए थे लेकिन लैंडलाइन कनेक्शन के लिए कोई नंबर सीरीज उपलब्ध न होने के कारण अनचाही कॉल की समस्या पर लगाम लगाना संभव नहीं हो पाया।
इसकी वजह यह है कि लैंडलाइन नंबर में तीन और अंक जोड़ देने पर 13 अंकों वाली सीरीज बनती है। दूरसंचार नेटवर्क में 13 अंकों वाले नंबर के संप्रेषण के लिए बीएसएनएल और एमटीएनएल को अपने एक्सचेंज की तकनीक को उन्नत करना होगा। हालांकि निजी दूरसंचार कंपनियों ने कहा है कि वे अपने एक्सचेंज को कुछ हफ्तों में नई तकनीक से लैस कर सकते हैं लेकिन बीएसएनएल और एमटीएनएल को इसके लिए ज्यादा समय चाहिए क्योंकि उन्हें नई तकनीक हासिल करने के लिए नीलामी की प्रक्रिया अपनानी होगी।
बीएसएनएल के पास लैंडलाइन कनेक्शन के लिए देश भर में 38 हजार एक्सचेंज हैं। इनमें से लगभग सभी एक्सचेंजों में 13 अंकों वाले नंबर के संप्रेषण के लिए उन्नत तकनीकी का इस्तेमाल करना होगा।
Advertisements
 
7 टिप्पणियाँ

Posted by on अप्रैल 24, 2011 in बिना श्रेणी

 

7 responses to “अनचाही कॉल से मुक्ति – कम से कम एक साल तक नहीं

  1. Learn By Watch

    अप्रैल 24, 2011 at 10:43 अपराह्न

    यह हो जाए तो बहुत अच्छा होगा

     
  2. सतीश सक्सेना

    अप्रैल 24, 2011 at 11:27 अपराह्न

    इंतज़ार के सिवाय हम कर ही क्या सकते हैं 😦

     
  3. राज भाटिय़ा

    अप्रैल 25, 2011 at 12:08 पूर्वाह्न

    अजी इन्हे अन्चाही काल से लाभ होता हे इस लिये जब तक चाहे यह टालना, टाल रहे हे, वर्ना अनचाही काल को एक दिन मे बन्द कर सकते हे, वो कुछ ना० ही तो हे जिन्हे यह ब्लाक कर दे, वैसे आप भी अपने मोबाईल मे उन ना० को ब्लाक कर सकते हे, जिन्हे आप नही चाहते

     
  4. चला बिहारी ब्लॉगर बनने

    अप्रैल 25, 2011 at 12:58 पूर्वाह्न

    मतलब साल भर और झेलना होगा!

     
  5. प्रवीण पाण्डेय

    अप्रैल 25, 2011 at 9:34 पूर्वाह्न

    कभी कभी बड़ी खीझ हो जाती है।

     
  6. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण)

    अप्रैल 25, 2011 at 11:26 पूर्वाह्न

    पोस्ट तो अच्छी है,
    मगर क्या देश को अनचाहे भ्रष्टाचार से भी मुक्ति मिलेगी!

     
  7. Coral

    अप्रैल 28, 2011 at 1:27 अपराह्न

    चलिए एक साल का इंतज़ार

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: