RSS

यह कोई खेल नहीं एक जंग है …

29 मार्च
“चाहे कोई कुछ भी कहे … सच्चाई नहीं बदलती … 
चहेरो पर भले ही मुस्कान … घावो की टीस नहीं 
भूलती … तुम हुकुमरान हो … खूब सियासत करो … 
सच यह है … कुछ बातें जनता कभी नहीं भूलती !!”
हाँ यह सच है कल मोहाली में सिर्फ एक क्रिकेट मैच खेला जाना है  … पर साथ साथ यह भी तो एक सच ही है कि जब जब बात हिंदुस्तान और पकिस्तान की हो … कोई भी खेल सिर्फ एक खेल नहीं रह जाता बल्कि एक जंग बन जाता है !! 
और जब बात जंग की हो  … 
तो जीत से कम कुछ भी नहीं  !!
तो जवानों आगे बड़ो और रोंद डालो दुश्मन को  …
ऐसा मारो कि फिर उठने न पाए …
कुचल दो इसका फन कि फिर डसने न पाए … 
जय हिंद !! 
Advertisements
 
9 टिप्पणियाँ

Posted by on मार्च 29, 2011 in बिना श्रेणी

 

9 responses to “यह कोई खेल नहीं एक जंग है …

  1. खुशदीप सहगल

    मार्च 30, 2011 at 8:42 पूर्वाह्न

    मेरा राम ते तेरा मौला है,
    एइयो ते बस रौला है…

    क्रिकेट को बस क्रिकेट ही रहने देते हुए गाया जाए- बुल्ला कि जाणा मैं कौण…

    जय हिंद…

     
  2. Suresh Chiplunkar

    मार्च 30, 2011 at 12:24 अपराह्न

    मुझे कनाडा से भी हारना मंजूर है… लेकिन…

     
  3. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण)

    मार्च 30, 2011 at 12:26 अपराह्न

    खेल को खेल की भावना से ङी लेना चाहिए!

    दो टीमों में से अक तो जरूर हारेगी!

    हम भारतवासी तो यही कामना करते हैं कि भारत जीत जाए।

     
  4. रवीन्द्र प्रभात

    मार्च 30, 2011 at 12:38 अपराह्न

    खेल खेल सा खेल खिलाड़ी, सबसे रख तू मेल खिलाड़ी ….यदि क्रिकेट को क्रिकेट ही रहने दिया जाए तो बेहतर है , मगर भारत-पाकिस्तान का नाम आते ही चारो ओर रोमांच पैदा हो जाता है स्वत: ….चलिए कुछ पल ही शेष है, देखते हैं आगे-आगे होता है क्या ?

     
  5. सम्वेदना के स्वर

    मार्च 30, 2011 at 12:44 अपराह्न

    suresh chiplunkar jee kee baat endorse karte hain!!

     
  6. shekhar suman

    मार्च 30, 2011 at 12:54 अपराह्न

    क्रिकेट एक ऐसा खेल है जब लोग ये भूल जाते हैं कि वो हिन्दू हैं, मुसलमान हैं, ब्रह्मण हैं या आदिवासी… आज तो बस सब की धड़कन एक ही बात कहती है, भारत जीत जाए बस…. 🙂 आज हम सब, भारतीय जैसा व्यवहार कर रहे हैं, क्रिकेट के बहाने से सही, कम से कम ये एहसास तो जिंदा है कि हम सब हिन्दुस्तानी हैं और एक हैं….
    वैसे न ही पाकिस्तानी क्रिकेट टीम हमारी दुश्मन है न ही ये एक जंग….
    वो तो एक पिद्दी सी प्रतिद्वंदी है…..और ये एक चिन्नी-मिन्नी सा सेमीफाईनल…..

    हम जीतेंगे और जीत के रहेंगे……..
    इन्कलाब जिंदाबाद…..
    वन्दे मातरम…..

     
  7. Shah Nawaz

    मार्च 30, 2011 at 1:52 अपराह्न

    वीर तुम बढे चलो…

     
  8. Poorviya

    मार्च 30, 2011 at 2:05 अपराह्न

    dusman hamesha dusman hota hai….

    aur mauka parast dusman ho to kahana hi kiya ……….

    jai baba banaras……..

     
  9. Shah Nawaz

    मार्च 31, 2011 at 9:37 पूर्वाह्न

    हुरररररररररे!!!!!! हम जीत गए!!!!!!!!!

    बहुत-बहुत मुबारक हो!!! सबको मुबारक हो!!! पाकिस्तान को भी मुबारक हो!!! 🙂 🙂 🙂 🙂 🙂

    धूम-धूम धडाम-धडाम धम्म-धम्म टूंश, फूंश, भड-भड-भड-भड… धिनशा-धिनशा…. फटाक-फटाक… धडाम-धडाम… ठाँ-ठाँ-ठाँ-ठाँ

    [यह वोह बम्ब-पठाखे हैं जो रात जलाएं हैं 🙂 🙂 🙂 ]

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: