RSS

बड़े काम की है झपकी

24 अप्रैल

नींद और ख्वाब का पुराना रिश्ता है और इसमें एक नया पहलू जोड़ते हुए वैज्ञानिकों ने झपकी और सपने के बीच एक अनोखे संबंध का पता लगाया है।

हारवर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के मुताबिक झपकी से ऐन पहले देखे गए काम के बारे में ख्वाब देखने से जागने के बाद वह कार्य और बेहतर ढंग से होता है। वहीं, ऐसा नहीं करने वाले या झपकी के दौरान काम से जुड़ा सपना नहीं देखने वाले लोग अपेक्षाकृत कम च्च्छा प्रदर्शन कर पाते हैं। इस अध्ययन में शामिल किए गए लोगों को कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बैठकर थ्री-डी पहेली सुलझाने को कहा गया था। पहेली में उनसे एक पेड़ ढूंढने को कहा गया था।

इस अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता रॉबर्ट स्टिकगोल्ड ने कहा कि उनमें से जिन लोगों को झपकी लेने की इजाजत दी गई और जिन्होंने पहेली से जुड़ा ख्वाब देखा, उन्होंने कम वक्त में ही पहेली सुलझा ली। उन्होंने कहा कि सपनों के अध्ययन से जाहिर होता है कि दिमाग एक ही समस्या के बारे में कई स्तरों पर सोचता है।

Advertisements
 
4 टिप्पणियाँ

Posted by on अप्रैल 24, 2010 in बिना श्रेणी

 

4 responses to “बड़े काम की है झपकी

  1. राज भाटिय़ा

    अप्रैल 24, 2010 at 1:30 पूर्वाह्न

    भाई हमारे यहां तो यह मुयि झपकी नोकरी ले लेती है कभी कभी

     
  2. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

    अप्रैल 24, 2010 at 7:22 पूर्वाह्न

    नींद और ख्वाब का गहरा रिश्ता है!
    मन शान्त हो तो गहरी नींद भी आयेगी
    और स्वप्न भी बढ़िया आयेंगे!

     
  3. अजित वडनेरकर

    अप्रैल 24, 2010 at 7:43 पूर्वाह्न

    झपकी से ऐन पहले देखे गए काम के बारे में ख्वाब देखने से जागने के बाद वह कार्य और बेहतर ढंग से होता है।

    कुछ कठिन नहीं लग रहा है यह वाक्य। थोड़ा आसान बना लें इसे तो बेहतर होगा। वैसे पोस्ट बढ़िया है।

     
  4. ajit gupta

    अप्रैल 24, 2010 at 8:42 पूर्वाह्न

    झपकी तो कई घण्‍टों की नींद से ज्‍यादा फायेदामंद है। जब दिन में केवल एक झपकी आती है तो एकदम फ्रेश अनुभव होता है, नींद निकालने पर तो शरीर में भारीपन रहता है। इसीकारण पहेली हल हो गयी होगी।

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: