RSS

यही जीना हैं दोस्तों… तो फिर मरना क्या हैं??????

03 मार्च
शहर की इस दौड में दौड के करना क्या है?
यही जीना हैं दोस्तों… तो फिर मरना क्या हैं?
पहली बारिश में ट्रेन लेट होने की फ़िकर हैं……भूल गये भींगते हुए टहलना क्या हैं…….
सीरियल के सारे किरदारो के हाल हैं मालुम……पर माँ का हाल पूछ्ने की फ़ुरसत कहाँ हैं!!!!!!
अब रेत पर नंगे पैर टहलते क्यों नहीं……..?????
१०८ चैनल हैं पर दिल बहलते क्यों नहीं!!!!!!!
इंटरनेट पे सारी दुनिया से तो टच में हैं…….लेकिन पडोस में कौन रहता हैं जानते तक नहीं!!!!
मोबाईल, लैंडलाईन सब की भरमार हैं………ज़िगरी दोस्त तक पहुंचे ऐसे तार कहाँ हैं!!!!
कब डूबते हुए सूरज को देखा था याद हैं??????
कब जाना था वो शाम का गुजरना क्या हैं!!!!!!!
तो दोस्तो इस शहर की दौड में दौड के करना क्या हैं??????
अगर यही जीना हैं तो फिर मरना क्या हैं!!!!!!!!

( कही पढ़ा था तो सोच आपको भी पढ़वाया जाये ! )

Advertisements
 
5 टिप्पणियाँ

Posted by on मार्च 3, 2010 in बिना श्रेणी

 

5 responses to “यही जीना हैं दोस्तों… तो फिर मरना क्या हैं??????

  1. Suman

    मार्च 3, 2010 at 5:35 अपराह्न

    nice

     
  2. Mithilesh dubey

    मार्च 3, 2010 at 5:41 अपराह्न

    बहुत खूब , आपने ऐसे सवालो को सामने रखा है जिसका जवाब शायद ही किसी के पास हो ।

     
  3. Kaviraaj

    मार्च 3, 2010 at 5:53 अपराह्न

    बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।

    आपका लेख अच्छा लगा।

    हिंदी को आप जैसे ब्लागरों की ही जरूरत है ।

    अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया किताबघर पर पधारें । इसका पता है :

    http://Kitabghar.tk

     
  4. सत्यम न्यूज़

    मार्च 4, 2010 at 12:10 अपराह्न

    स्वागत है…. दोस्त ख़ुशी हुयी की आप की वापसी हुयी…धमाकेदार ढंग से एंट्री करने के लिए शुक्रिया.

     
  5. नवरोज

    मार्च 21, 2010 at 5:29 अपराह्न

    सबसे पहले नमस्कार करूँगा। उसके बाद आपको धन्यवाद कहना चाहूँगा, एक अनूठी रचना से रूबरू करवाने के लिए। उम्मीद करता हूँ, घर में सब ठीक होगा, और आप अब निरंतर हमसे ब्लॉग़ के मार्फत मिलते रहेंगे।

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: