RSS

जिंदगी हार्ट अटैक से पहले और इसके बाद

25 सितम्बर

एक वक्त था, जब हृदय को एक ऐसा अंग समझा जाता था, जो अगर एक बार बिगड़ जाए, तो फिर उसका ठीक होना असंभव था, परन्तु अब चिकित्सा विज्ञान में चमत्कारिक प्रगति हो चुकी है। इस कारण अब हृदय को दुरुस्त रखकर लंबी उम्र तक स्वस्थ-सक्रिय जिंदगी जी सकते हैं।
[बचाव]

यदि दिल की धमनियां सुचारु रूप से काम करेगी, तो दिल भी अच्छी तरह से काम करता रहेगा। हृदय की धमनियां कोलेस्ट्रॉल व प्लेटलेट्स के जमने से अवरुद्ध हो जाती हैं। इसलिए हृदय को अटैक से बचाने के लिए दिल में किसी रुकावट के बगैर रक्त संचार आवश्यक है। हार्ट अटैक से बचाव के लिए इन बातों पर अमल करे-

* यदि आप मोटापे से ग्रस्त है या आपका पेट निकला है और कमर की माप 38 इंच से अधिक है, तो फौरन वजन घटाने के प्रयास शुरू कर दें।
* यदि आप हाई ब्लडप्रेशर व मधुमेह से पीड़ित है, तो इन शिकायतों को नियंत्रित रखें।
* अपना लिपिड प्रोफाइल चेक करवाएं। यदि यह प्रोफाइल अधिक हो, हाई ब्लडप्रेशर या डायबिटीज हो, तो रोजाना एक गोली रोजुवास्टैटिन और एक गोली एस्प्रिन (75 मिलीग्राम) लें। एस्प्रिन टैब्लेट्स लेने से हार्टअटैक की संभावना 60′ तक घट जाती है।
* प्रतिदिन योग व अन्य व्यायाम करे।
* खानपान में चावल व मैदा का कम से कम प्रयोग करे, पर दाल, सब्जियों व फलों को अधिक स्थान दें। मीठा व नमक कम लें। खाना कम खाएं।
* घी, चिकनाई व तली खाद्य वस्तुओं से परहेज करे।
* धूम्रपान, मदिरापान और मांसाहार से दूर रहे।


[दौरे के बाद]
यदि आपको हार्ट अटैक हो चुका है, तो आप निराश न हों। इन दिनों आधुनिक दवाओं के उपलब्ध होने और अनुशासित दिनचर्या से आप लंबी व बेहतरीन जिंदगी जी सकते है। अटैक के बाद इन बातों का ख्याल रखें-
* हृदय रोग विशेषज्ञ ने आपके लिए जो दवाएं निर्धारित की है, उन्हे नियमित रूप से लेते रहे।
* अपने पास हृदय रोग विशेषज्ञ का फोन नंबर रखें। एंबुलेंस सर्विस के बारे में भी आपको जानकारी होनी चाहिए।
* जीवन के प्रति आशावादी सोच रखें और तनाव को नियंत्रित करने की कोशिश करे।
* प्रतिदिन योग, व्यायाम व मेडिटेशन करे। ऐसा करने से आपकी धमनियां दुरुस्त रहेगी और दोबारा अटैक होने की संभावनाएं बहुत कम हो जाएंगी।
* खान-पान में मौसमी सब्जियों और फलों को स्थान दें और चिकनाईयुक्त आहार से परहेज करे।
* महीने में एक बार अपने हृदय रोग विशेषज्ञ से चेकअप कराएं।

– डॉ. आरती दवे लालचंदानी
(वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ)
Advertisements
 
2 टिप्पणियाँ

Posted by on सितम्बर 25, 2009 in बिना श्रेणी

 

2 responses to “जिंदगी हार्ट अटैक से पहले और इसके बाद

  1. Mired Mirage

    सितम्बर 25, 2009 at 12:33 अपराह्न

    जानकारी के लिए आभार.
    घुघूती बासूती

     
  2. सत्यम न्यूज़

    सितम्बर 25, 2009 at 6:18 अपराह्न

    nice

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: